आगरा

विकियात्रा से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
ताज महल

आगरा भारत के उत्तर प्रदेश में स्थित है। यह भारत की राजधानी दिल्ली से लगभग 200 किलोमीटर दूर है। भारत के सर्वाधिक प्रसिद्ध पर्यटन स्थलों में से एक, ताजमहल, आगरा में ही स्थित है। साथ ही आगरा का किला और फतेहपुर सीकरी भी यहाँ के प्रमुख देखने लायक भवन हैं।

अन्य जानकारी[सम्पादन]

इतिहास[सम्पादन]

वर्ष 1526 से 1658 तक यह मुगल साम्राज्य की राजधानी था, लेकिन इससे भी काफी पहले इसकी स्थापना हो चुकी थी। 1506 में सुल्तान सिकंदर लोदी ने अपनी राजधानी दिल्ली से आगरा कर दी। इसके पुत्र इब्राहिम लोदी को वर्ष 1526 में बाबर ने हरा दिया और आगरा पर शासन करने वाला पहला मुगल शासक बना।

मौसम[सम्पादन]

मानसून और पश्चिमी विक्षोम ही दो मुख्य कारक हैं, जो आगरा के मौसम को अधिक प्रभावित करते हैं। उत्तर पश्चिमी भारत के अधिकांश शहरों की तरह, यहाँ का मौसम और जलवायु उष्णकटिबंधीय है। ज़्यादातर पश्चिमी विक्षोम सर्दियों के मौसम में होता है और इसके कारण तेज बारिश और तापमान में कमी होती है। दक्षिण पश्चिम मानसून गर्मियों के मौसम में जून से शुरू होता है और सितम्बर तक रहता है। मानसून भीषण गर्मी से राहत देता है। मानसून में काफी अधिक वर्षा होती है और यह कुछ निचले स्थानों में बाढ़ जैसे हालात पैदा कर देता है।

यात्रा[सम्पादन]

यह दिल्ली से दक्षिण पूर्व में 200 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। इस जगह को आगरा-दिल्ली-जयपुर का स्वर्ण त्रिकोण भी कहा जाता है। आगरा अच्छी तरह से रेल और सड़क से अपने आस पास के शहरों से जुड़ा हुआ है और पर्यटकों के आने का स्थान भी है। जिन लोगों को बहुत सी जगहों को देखना है या अगले दिन सुबह ही दिल्ली के लिए निकलना रहता है, वे लोग यहीं रात भी गुजार लेते हैं।

विमान द्वारा[सम्पादन]

आगरा का खेरजा हवाई अड्डा ऋतुओं के अनुसार अपनी सेवा प्रदान करता है। इस शहर में मुख्य विमान एयर इंडिया का उड़ता है। यह दिल्ली-आगरा-जयपुर के त्रिकोण पर पर्यटकों को लाने ले जाने का कार्य करता है। यह भारत के कुछ सबसे प्रसिद्ध शहरों में से एक है और वायु मार्ग द्वारा सभी प्रमुख शहरों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। उड़ान का समय एक घंटे से भी कम होता है। यदि आप इसका वैकल्पिक मार्ग खोजना चाहते हैं तो कार किराय पर लेना ज्यादा सस्ता पड़ेगा।

रेल द्वारा[सम्पादन]

  • आगरा किला स्टेशन - यह आगरा के किले के पास ही स्थित है। इस स्टेशन में कानपुर, गोरखपुर और कोलकाता जैसे शहरों से रेल आती है।
  • राजा की मंडी - यह एक बहुत ही छोटा स्टेशन है। कुछ रेल जो आगरा कंट्ट में रुकती है, वो यहाँ भी रुकती है। यह शहर के मध्य में स्थित है।
  • ईदगाह रेलवे स्टेशन - यदि आप जयपुर से आगरा आ रहे हैं, तो दिखने वाला यह पहला स्टेशन होगा।

बस द्वारा[सम्पादन]

कई बसें जयपुर, दिल्ली, अजमेर और लखनऊ आदि से आगरा में आते हैं। दिल्ली और आगरा के मध्य एक नया राजमार्ग बनाया गया है। लेकिन इस सड़क पर नाका भी मौजूद है, जिसमें जाने के लिए पैसे लगते हैं। इस कारण कई बस चालक वहाँ से न ले जा कर दूसरे स्थानीय सड़क से ले जाते हैं। इस कारण यात्रा में बहुत समय लग जाता है, जिसके सामने एक्सप्रेस ट्रेन का चार से पाँच घंटे का समय भी कम पड़ जाता है। आप बस या छोटे बस द्वारा भी छोटे सड़क से आगरा जा सकते हैं, लेकिन आपको वहाँ किसी से पूछना पड़ेगा कि आगरा जाने वाली बस कहाँ है और कहाँ से निकलने वाली है। आप इस बारे में किसी होटल के कर्मचारी से भी पूछ सकते हैं। इस पर ध्यान अवश्य दें कि बस स्टैंड में कई बार काफी भीड़ हो सकती है और वहाँ कब बस आएगा और कौनसा बस कहाँ जाएगा, इस बारे में कोई जानकारी नहीं लिखी होती है। कुछ निजी बस कंपनियाँ अधिक दाम में अच्छी आरामदायक सफर प्रदान करते हैं। पर फिर भी हो सकता है कि किसी कारण बस आगे न जा सके या सड़क जाम हो या अन्य किसी कारण से बस को आगे जाने नहीं दिया जा रहा हो, तो इस कारण आपके कहीं जाने की योजना धरी की धरी रह सकती है। इस पर भी ध्यान दें कि यह आगरा जाने का सबसे सस्ता तरीका है। इसके लिए यदि आप सामान्य बस में जा रहे हैं तो आपको ₹60 से अधिक नहीं लगेगा और यदि आप आराम से सोते हुए जाना चाहते हैं तो इस सुविधा वाली बस का भी किराया ₹200 से अधिक नहीं लगेगा।

टैक्सी द्वारा[सम्पादन]

आप टैक्सी लेने के लिए या तो सीधे होटल से ले सकते हैं या रेलवे स्टेशन के बाहर में भी ले सकते हैं। आपको कई जगह सरकार द्वारा संचालित टैक्सी स्टैंड देखने को मिलेगा, लेकिन इसे ढूँढने में आपको काफी मेहनत करना पड़ सकता है, क्योंकि स्टेशन में कई ऐसे लोग हो सकते हैं, जो आपकी सहायता न करें। इसके लिए 8 घंटे में ₹950 का किराया लगता है। यदि आप होटल से टैक्सी लें तो हो सकता है कि यह और महंगा पड़ जाये। सबसे अच्छा तरीका यही है कि आप सीधे चालक से मिलें या किसी ऑनलाइन जा कर किसी टैक्सी किराय पर देने वाले वेबसाइट से टैक्सी ले लें।

इस बात का ध्यान रखें कि ताज भवन के पास किसी भी प्रकार की टैक्सी ले जाने की अनुमति नहीं है। परन्तु बाकी सभी स्थान पर आप आराम से टैक्सी से घूम सकते हैं।

कार द्वारा[सम्पादन]

राष्ट्रीय राजमार्ग 2 दिल्ली में मधुरा सड़क से मुख्य मार्ग में आने का प्राथमिक मार्ग है। यदि आप दक्षिण दिल्ली से या दिल्ली हवाई अड्डे से आ रहे हैं तो महरौली सड़क में जाना आसान होगा। उसके बाद आप तुगलकाबाद से राष्ट्रीय राजमार्ग 2 में आ सकते हैं। जब आगे दो रास्ते हों तो आपको अपनी आँखें अच्छी तरह से खुली रखनी चाहिए, क्योंकि ट्रक, कार या बैल गाड़ी कहीं गलत रास्ते से भी आ कर आपको टक्कर मार सकती है। आप चालक के साथ गाड़ी किराय पर भी ले सकते हो। दिल्ली हवाई अड्डे से आने जाने में पाँच लोगों के बैठने लायक जगह के साथ गाड़ी आपको ₹3,500 में मिल जाएगी। लेकिन समय का भी ध्यान रखें और अपने जाने से थोड़े अधिक समय पहले ही निकल जाएँ, क्योंकि हो सकता है कि यातायात बढ़ जाये और आपको देर हो जाए। साथ ही यह भी अच्छा होगा कि आप चालक को पहले से जान लें, क्योंकि कई बार ऐसी स्थिति भी आती है कि कुछ दूरी तक जाने के लिए कोई पाँच घंटे का समय लगा रहा हो और आप उसे बोल भी नहीं सकते कि कम से कम ऑटो रिक्शा (टूक टूक) से तो तेज चला दो।

देखें[सम्पादन]

ताज महल[सम्पादन]

ताजमहल के नियम और कायदे

यहाँ सुरक्षा के बहुत कड़े इंतजाम होते हैं और नियमों का पालन करना बहुत ही महत्वपूर्ण होता है और पालन भी करना चाहिए। इसके कुछ नियम स्मारक के परिसर में स्मारक की पवित्रता बरकरार रखने और अन्य सभी नियम रखरखाव करने और इस महल के संरक्षण के लिए बनाई गई है। ताजमहल में आने वाले पर्यटकों के सुरक्षा हेतु शेष नियमों का भी पालन करना चाहिए।

ताजमहल सफेद संगमरमर से बना एक विशाल मक़बरा है, जिसे मुगल सम्राट शाहजहाँ से अपनी पत्नी नूरजहाँ की याद में 1631 और 1648 के बीच बनवाया था। ताजमहल दुनिया में सबसे अच्छी तरह संरक्षित इमारतों में से एक भी है और भारतीय मुस्लिम वास्तुकला की कृतियों के सर्वश्रेष्ठ उदाहरणों में से भी एक है।

ताजमहल को रात में भी देखा जा सकता है, लेकिन पूर्णिमा से दो दिन पूर्व और दो दिन पश्चात् ही देखने दिया जाता है। भारतीय पुरातत्व संस्था द्वारा चौबीस घंटे पूर्व पूर्णिमा के साथ कुल पाँच दिनों के रह सकते हैं। इस संस्था का कार्यालय आगरा में माल रोड से लगा हुआ है। इसमें जाने हेतु भारतीय से ₹500 और गैर-भारतीय से ₹750 लिया जाता है। रात में देखने का समय 8:30 से 9:00 और 9:00 से 9:30 तक है, लेकिन आपको लगभग तीस मिनट पहले ही यहाँ आना होता है, जिससे सुरक्षा हेतु आपकी जाँच की जा सके। रात के समय देखने वालों को लगभग दो सौ मीटर दूर रखा जाता है और तस्वीर लेने हेतु रौशनी पर्याप्त नहीं होती है।

आगरा का किला[सम्पादन]

आगरे के किले से दिखता ताज महल

आगरा का किला काफी हद तक दिल्ली के लाल किले से मिलता है, लेकिन यह काफी अच्छे हालात में है। दिल्ली के किले को अंग्रेजों ने विद्रोह के बाद इसके कई हिस्सों को नष्ट कर दिया था। इसे मुख्यतः लाल बलुआ पत्थरों से बनाया गया है और किले के महल वाले क्षेत्र में सफेद संगमरमर का प्रमुखता से उपयोग किया गया है।

बाग[सम्पादन]

मेहताब बाग में आप ताजमहल से होते हुए यमुना नदी पार कर सीधे आ सकते हैं, और यदि आप शहर के मध्य से यहाँ आना चाहते हैं, तो ऑटोरिक्शा से आपको लगभग तीस मिनट का समय और ₹200 रुपये लगेंगे। वनस्पति उद्यान (बॉटैनिकल गार्डन) से आप बिना पर्यटकों की भीड़ के भी ताजमहल को देख सकते हैं। बाग में विदेशियों द्वारा प्रवेश हेतु ₹100 रुपये का शुल्क लगता है।

मंदिर[सम्पादन]

  • 1 बालकेश्वर मंदिर (बालकेश्वर में यमुना नदी के पास स्थित है।) भगवान शिव का मंदिर
  • 2 कैलाश मंदिर (सिकंदरा में यमुना नदी के पास स्थित है।) भगवान शिव का मंदिर
  • महाकाल और महाकाली मंदिर
  • 3 मनकामेश्वर मंदिर
  • पृथ्वीनाथ मंदिर (शाहगंज में, जयपुर की ओर जाते हुए सड़क के निकट)
  • 4 राजेश्वर मंदिर (रायपुर के गाँव में)
  • रावली महाराज मंदिर
  • 5 श्याम जी महाराज मंदिर

चर्च[सम्पादन]

  • 6 अकबर चर्च
  • 7 केथेड्रल ऑफ इम्माकुलेट कोंसेप्सन (अकबर चर्च के पास)
  • 8 सेट जॉन चर्च

अन्य स्थान[सम्पादन]

  • 9 चीनी का रोजा (चीनी का रोजा) इसे शाह जहां की याद में बनाया गया था।
  • 10 इतमाद-उल-दौला का मकबरा नूर जहां ने इस मकबरे को बनाया था। इसे कभी कभी छोटा ताज भी कहते हैं।
  • 11 गुरुद्वारा गुरु का ताल
  • 12 जामा मस्जिद एक बहुत बड़ा मस्जिद है, जिसे 1648 में बनाया गया था।

खाना[सम्पादन]

  • चाट - जिन्हें चाट खाना पसंद है, उनके लिए आगरा स्वर्ग जैसा है। यहाँ चाट के कई अलग अलग प्रकार मिलते हैं। इसके अलावा कई जगह आलू टिक्की, पनीर टिक्का आदि भी मिलता है।

भोजनालय[सम्पादन]

  • कामत होटल - यह कुछ बड़े भोजनालयों में से एक है, जहाँ से आप ताज महल को देख सकते हैं। यहाँ बियर भी उपलब्ध है।
  • प्रिया भोजनालय - फतेहाबाद सड़क में शांति मांगलिक अस्पताल के पास ही स्थित है। इसमें आपको हर तरह के खाने मिल सकते हैं, केवल दक्षिण भारतीय खानों के अलावा, जिसके लिए आपको ₹250 प्रति व्यक्ति देने होंगे। यह तीन सितारा होटल है, जिसमें एसी, टीवी आदि की भी सुविधा है।

पीना[सम्पादन]

होटल में भारतीय बियर आपको ₹70-100 के आसपास पड़ेगा, लेकिन यहाँ आगरा के बाहर रात को लोग निशाचर की भाति जागे नहीं रहते हैं, इस कारण आपको केवल कुछ बड़े होटल और भोजनालय आदि ही खुले मिलेंगे। आगरा की सड़कों से निकलने के बाद और होटल में घुसने के बाद आपको वापस जाने का कोई मन नहीं करेगा।

  • अमर विलास बार - यहाँ ₹200 में बियर और ₹450 में कॉकटेल मिलता है। यहाँ के छत से आप आराम से ताज को देख सकते हैं।
  • मुग़ल बार - यह कई सारे होटल के साथ मिल कर रहता है।
  • डाउनिंग स्ट्रीट बार = इसमें आपको पिजा, तंदूरी चिकन आदि मिल सकता है।

सोना[सम्पादन]

सस्ता[सम्पादन]

  • होटल कमल - यह ताजमहल के दक्षिण द्वार की ओर मिलेगा। इसमें रहने के लिए आपको ₹300 से ₹850 तक खर्च करने पड़ेंगे।
  • होटल नील कंठ - यह फतेहाबाद सड़क पर स्थित है। इसमें रहने हेतु आपको ₹100 या उससे अधिक रुपये देने होंगे।
  • होटल शीला - यह ताजगंज में स्थित है और ताजमहल के पूर्वी द्वार से मात्र 100 मीटर की दूरी में आपको मिल जाएगा। यहाँ आने जाने वाला समय 10 बजे है। कोई भी आपको होटल में निःशुल्क कॉल कर सकता है और यहाँ आपको चौबीसों घंटे गर्म पानी मिल सकता है और जनरेटर की सुविधा भी है। इसके लिए आपको ₹500 से ₹800 रुपये लगेंगे।

सामान्य[सम्पादन]

  • होटल मन्दाकिनी विलास - यह फतेहाबाद सड़क पर पुरानी मंडी में ताजगंज पर स्थित है। यह ताजमहल के पश्चिमी द्वार से 200 मीटर की दूरी पर आपको मिल जाएगा। इसके कमरों में आपको एसी और 100 चैनल के साथ कैबल टीवी की सुविधा भी मिलेगी। इसमें ब्रॉडबैंड इंटरनेट और अपना नहाने का कमरा और ठंडा पानी आदि की सुविधा भी मिलेगी। आप यदि थोड़े गर्म पानी की मांग करेंगे तो आपको थोड़ा गर्म पानी भी मिल सकता है, लेकिन इसके लिए आपको थोड़ा देर पहले ही बोलना पड़ेगा। यदि आप सबसे नीचे के कमरे में सो रहे हैं तो आपको कान में कुछ डालना पड़ सकता है, क्योंकि नीचे लोगों के आने जाने के कारण काफी शोर होता है। इसके लिए आपको थोड़ी ऊपरी मंजिल में कमरा लेना पड़ेगा। यह ₹2,690 रुपये से शुरू होती है।
  • होटल प्रिया - यह प्रिया भोजनालय के पास, फतेहाबाद सड़क में स्थित है। ताजमहल के पूर्वी द्वार से इसकी दूरी लगभग 400 मीटर है। इसके कमरे में भी आपको एसी और 100 चैनल वाले केबल टीवी की सुविधा मिलेगी। इसी के साथ साथ ब्रॉडबैंड, अपना नहाने का कमरा, जिसमें आप ठंडा और गर्म पानी दोनों का उपयोग कर सकते हैं आदि भी मिलेगा। आप एक कॉल कर के डॉक्टर को भी बुला सकते हैं। यह इस दाम पर सबसे अच्छा होटल है। इसमें नाश्ता हेतु ₹150 रुपये लगेंगे।

सुरक्षित रहें[सम्पादन]

  • अपने होटल के कमरे में कभी भी पैसा या कोई भी मूल्यवान वस्तुओं को न रखें और अपने होटल, भोजनालय आदि के बिलों की अच्छी तरह से जाँच भी कर लें।
  • कभी भी ज्यादा पैसे न दें, चाहे वो टैक्सी चालक भी क्यों न हो
  • जेब कतरों से सावधान रहें।
  • यदि आप कुछ चीज खरीदना चाहते हैं तो सावधान रहें, क्योंकि कई सारे सस्ते सामान वास्तविक वस्तुओं की नकल होती है और ज्यादा समय तक नहीं चल पाती है।
  • ठंड के समय आगरा में मौसम का कोई ठिकाना नहीं होता है, कई बार तापमान शून्य से भी कम हो सकता है, इस कारण सर्दी में आने से पूर्व इसकी तैयारी भी कर लें।