उत्तर प्रदेश

विकियात्रा से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
भारत के मानचित्र में उत्तर प्रदेश की स्थिति।

भारत के उत्तरी हिस्से के मैदानों के बीचोबीच स्थित एक राज्य है। विविध ऐतिहासिक और धार्मिक महत्व की चीजें देखने लायक।

समझ बढ़ायें[सम्पादन]

ताज महल
मणिकर्णिका घाट, बनारस
आनंद भवन, नेहरू परिवार का आवास, इलाहाबाद
लखनऊ में विधान सभा भवन
दुधवा अभयारण्य में एक बारहसिंगा

उत्तर प्रदेश अपने 19.96 करोड़ लोगों के साथ भारत का सबसे अधिक जनसंख्या वाला राज्य है। लखनऊ यहाँ की राजधानी है और यह क्षेत्रफल के हिसाब से भी भारत का चौथा सबसे बड़ा राज्य है, जो 240,928 वर्ग किलोमीटर इलाके में फैला है।

उत्तर भारत के मैदानी इलाके के बीचोबीच स्थित यह राज्य गंगा, यमुना, गोमती और सरयू नदियों द्वारा लायी मिटटी से बना एक लगभग समतल हिस्सा है। इसी कारण प्राचीन काल से ही यहाँ खेती का विकास हुआ और सघन जनसंख्या का बसाव हुआ। वर्तमान समय में भी यहाँ की अर्थव्यवस्था का मुख्य आधार खेती ही है। यहाँ के उद्योगों में गन्ने से चीनी बनाना, सूती वस्त्र उद्योग और कृषि आधारित विविध खाद्य-प्रसंस्करण उद्योग शामिल हैं।

मुगलों की केन्द्रीय सत्ता कमजोर होने के बाद एक समृद्ध राज्य के रूप में उभरे अवध प्रांत के रूप में शासित उत्तर प्रदेश अपनी ऐतिहासिक विरासत के लिए प्रसिद्ध है। लखनऊ और आगरा जैसे ऐतिहासिक महत्त्व के शहर घूमने लायक हैं।

हिन्दू धर्म के सबसे प्रमुख आराध्यों में से दो राम और कृष्ण, परंपरानुसार माना जाता है कि क्रमशः अयोध्या और मथुरा में जन्मे थे। इनके अलावा वाराणसी और इलाहाबाद (प्रयाग) विश्व प्रसिद्ध धार्मिक महत्व के नगर हैं। अवध के नवाबों के काल में हिन्दू-मुस्लिम सांस्कृतिक लक्षणों के घुलमिल कर एकाकार हो जाने से एक ख़ास किस्म की संस्कृति का जन्म हुआ जिसे गंगा-जमुनी तहज़ीब कहा जाता है। भारतीय नृत्य की सबसे प्रचलित विधा, कथक का जन्म उत्तर प्रदेश में ही हुआ और संगीत के क्षेत्र में यहाँ उल्लेखनीय योगदान रहा है।

परम्परागत रूप में उत्तरी पश्चिमी हिस्से में लकड़ी के सामान, लखनऊ का चिकन (एक तरह का कपडा) और बनारस की ज़रदोज़ी (कढ़ाई की कला) के सामान, कालीन, बाँस और मूँज (ऊँची घास) के इस्तेमाल से बनी डलिया इत्यादि हस्तशिल्प की चीजें यहाँ खरीदने लायक हैं।

हिन्दी भाषा का गढ़ भी यही है। हिंदी यहाँ की अधिकारिक भाषा है, मध्य भाग में अवधी और दक्षिणी भाग में बुन्देली तथा बघेली बोलियाँ बोली जाती हैं; पूर्वांचल की स्थानीय भाषा भोजपुरी है।

क्षेत्र[सम्पादन]

  • अवध — राज्य का बिचला इलाका, राजधानी लखनऊ भी इसी में स्थित है।
  • दोआब — गंगा और यमुना नदियों के बीच का भाग; पश्चिमी और दक्षिण-पश्चिमी उत्तर प्रदेश में स्थित।
  • उत्तरी बुन्देलखण्ड — राज्य का दक्षिण-पश्चिमी हिस्सा।
  • पूर्वांचल — पूर्वी हिस्सा।
  • रुहेलखण्ड — पश्चिमी उत्तर प्रदेश का उत्तरी भाग।

शहर[सम्पादन]

यहाँ के दस प्रमुख शहर निम्नलिखित हैं:

  • लखनऊ — वर्तमान उत्तर प्रदेश और पुराने समय के अवध प्रांत की राजधानी, ऐतिहासिक किन्तु आधुनिक शहर।
  • आगरा — भारत की पर्यटन राजधानी; ऐतिहासिक धरोहरों के लिए प्रसिद्ध, जिनमें से एक विश्व प्रसिद्ध ताज महल भी है।
  • इलाहाबाद — धार्मिक और शैक्षणिक महत्व का नगर; पवित्र गंगा, यमुना और मिथकीय सरस्वती नदियों के संगम और कुंभ मेला के लिए प्रसिद्ध।
  • अयोध्या — राम की जन्मभूमि के रूप में प्रसिद्ध धार्मिक नगरी; पहले जैन तीर्थंकर ऋषभदेव की भी जन्मस्थली माना जाता है।
  • कुशीनगर — बौद्ध धर्म के चार पवित्रतम तीर्थ स्थलों में से एक, जहाँ गौतम बुद्ध का महापरिनिर्वाण हुआ।
  • झाँसी — उत्तरी बुन्देलखण्ड इलाके का एक ऐतिहासिक शहर।
  • कानपुर — कभी "भारत का मानचेस्टर" कहा जाने वाला शहर, अब चमड़ा उद्योग के लिए प्रसिद्ध, IIT भी यहाँ स्थित है।
  • मथुरा — भगवान कृष्ण की जन्मभूमि के रूप में प्रसिद्ध धार्मिक महत्व का नगर।
  • सारनाथ — बौद्ध धर्म के चार प्रमुख तीर्थों में एक जहाँ शाक्यमुनि गौतम ने पहला उपदेश दिया; बौद्ध स्तूपों और मंदिरों के लिए देखने लायक।
  • वाराणसी — हिन्दुओं के लिए पवित्रतम तीर्थों में से एक; गंगा के बायें किनारे पर मौजूद घाटों का नगर; काशी विश्वविद्यालय उल्लेखनीय शैक्षणिक केंद्र है।

इन्हें भी देखें[सम्पादन]