भोपाल

विकियात्रा से
Jump to navigation Jump to search

भोपाल, भारतीय राज्य मध्य प्रदेश की राजधानी है। इसका नाम राजा भोज के नाम से भोपाल पड़ा था। इसे भोज और पाल से मिला कर बनाया गया है। राजा भोज ने इसे एक शहर के रूप में बनाया था, जिसके कारण उनका नाम इस शहर को दिया गया है। यह उज्जैन (प्राचीन उज्जयिनी) के साथ ही राजा भोज के साम्राज्य का एक प्रमुख हिस्सा था। इस शहर पर पूरे विश्व का पहली बार ध्यान वर्ष 1984 में गया था, जब इस शहर में एक विषैली गैस फैल गई थी।

अन्य जानकारी[सम्पादन]

मौसम[सम्पादन]

यहाँ अप्रैल से जून के आस पास गर्मी का मौसम रहता है। मई और जून में कम दबाव का क्षेत्र बनने के कारण यहाँ शाम होते होते कई बार बादल भी आ जाते हैं, जिसके कारण कुछ घंटे तेज हवा के साथ वर्षा भी होती है। इसमें कई बार ओले भी गिरते हैं। जुलाई में मुख्यतः मानसून आ जाता है और बारिश का मौसम शुरू हो जाता है। सितम्बर और अक्टूबर के आते आते मानसून चले जाता है और ठंड का मौसम आ जाता है। इस मौसम में आसमान साफ हो जाता है और नीला आसमान दिखाई देने लगता है। इस बीच कोई बादल भी नहीं दिखता है। इससे जनवरी के आसपास तक मौसम इसी तरह सुहाना रहता है।

यात्रा[सम्पादन]

विमान द्वारा[सम्पादन]

राजा भोज हवाई अड्डा यहाँ का प्रमुख हवाई अड्डों में से एक है। यह दो अलग अलग भागों में बंटा हुआ है। एक घरेलू और दूसरा अंतरराष्ट्रीय उड़ानों के लिए है। इसमें सभी नई तकनीकों का उपयोग किया गया है। इसमें 750 यात्री आराम से बैठ सकते हैं। इसमें कार रखने के लिए भी जगह है। यहाँ हवाई अड्डे के बाहर 1500 कारों को रखा जा सकता है। एयर इंडिया और जेट एयरवेज यहाँ से लगातार नई दिल्ली, अहमदाबाद, हैदराबाद, इंदौर, चेन्नई, कोलकाता और मुंबई से भोपाल आना जाना करते रहते हैं।

रेल द्वारा[सम्पादन]

भोपाल अच्छी तरह से रेल से जुड़ा हुआ है। यहाँ इसका बहुत बड़ा केन्द्र भी है, जिसमें मध्य और पश्चिमी रेलमार्ग एक दूसरे से जुड़ते हैं। भोपाल में मुख्य दो रेल स्टेशन है। पहला भोपाल रेल स्टेशन जो पुराना भोपाल में और दूसरा हबीबगंज रेल स्टेशन जो नया भोपाल में है। शताब्दी एक्सप्रेस दिल्ली से भोपाल तक आना जाना करता रहता है। इसमें बहुत अच्छी सुविधा युक्त सफर करने होता है। इसके अलावा भी कई सारे रेल भोपाल से जुड़े हुए हैं और भारत के प्रमुख जगहों से भी जुड़े हैं।

कार द्वारा[सम्पादन]

भोपाल अच्छी तरह से भारत के कई राष्ट्रीय राजमार्ग से जुड़ा हुआ है। यहाँ पर कार या बस के द्वारा आसानी से सफर किया जा सकता है। इससे अन्य प्रमुख जगहों पर भी आसानी से जाया जा सकता है। इसके अलावा सड़क लगभग सभी रेल और हवाई अड्डों से भी जुड़े हुए हैं। जिससे इनमें से किसी भी जगह आप कार से आसानी से जा सकते हैं।