मध्य प्रदेश

विकियात्रा से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
भारत के नक्शे में

मध्य प्रदेश भारत का एक राज्य है, इसकी राजधानी भोपाल है। यहाँ सबसे अधिक हिन्दी बोलने वाले लोग रहते हैं। ऐसा भी माना जा सकता है कि पूरे देश में सबसे अच्छी तरह हिन्दी यहाँ के लोग ही बोलते हैं। यहाँ हिन्दी के कई विश्वविद्यालय भी हैं।

अन्य जानकारी[सम्पादन]

मध्य प्रदेश भारत के मध्य भाग में स्थित है। इसके प्रमुख नगर में इंदौर, भोपाल, ग्वालियर, जबलपुर और उज्जैन हैं। इसमें पचास जिले हैं और यह भारत का सबसे अमीर राज्य भी माना जाता है।

भाषा[सम्पादन]

हिन्दी इस राज्य की आधिकारिक भाषा है। ऐसा माना जाता है कि पूरे देश में यहाँ के लोगों की हिन्दी अधिक शुद्ध होती है। यहाँ हिन्दी के कई विद्यालय और विश्वविद्यालय भी हैं। इसके महाराष्ट्र से जुड़े होने के कारण कुछ लोग यहाँ मराठी भी बोलते हैं। इसके अलावा यहाँ हिन्दी के कई बोली जैसे मालवा में मल्वी, निमार में निमडी, बुंदेलखंड में बुन्देली आदि बोलते हैं।

मौसम[सम्पादन]

यहाँ मुख्य रूप से मानसून के आने पर बारिश होती है। यह 15 जून से 15 सितम्बर के आसपास रहता है। इसके बाद धीरे धीरे ठंड बढ़ने लगती है। सितम्बर से फरवरी तक ठंड का मौसम रहता है। इसके बाद धीरे धीरे गर्मी बढ़ने लगती है। अप्रैल से जून तक गर्मी का मौसम रहता है। जिसमें बीच बीच में वायु का दाब कम होने के कारण बंगाल की खाड़ी से उठे बादल के कारण यहाँ बारिश होता है।

देखें[सम्पादन]

  • बांधवगढ़ राष्ट्रीय उद्यान - मध्य प्रदेश दुनिया में बाघों की सबसे अधिक घनत्व है और यह उन कुछ प्राकृतिक स्थानों में से एक स्थान है जहाँ आप बाघों को उनके प्राकृतिक निवास स्थान में देख सकते हैं।
  • खजुराहो - खजुराहो मध्य प्रदेश का सबसे अच्छा आकर्षण है। हर साल कई लोग दुनिया भर से खजुराहो आते हैं।
कन्दारिया मन्दिर
  • कन्दारिया मन्दिर - यह मन्दिर छतरपुर जिले के खजुराहो गाँव में स्थित है। मन्दिर लगभग 6 वर्ग किलोमीटर तक फैला हुआ है। यह गाँव के पश्चिमी छोर में विष्णु मन्दिर के पश्चिम में स्थित है। यह मंदिर सभी रेल, सड़क और वायु मांग से पूरी तरह जुड़ा हुआ है। आप किसी भी मार्ग से आसानी से यहाँ आ सकते हैं। दक्षिण महोबा से खजुराहो की दूरी 55 किलोमीटर है।

नदियाँ[सम्पादन]

नर्मदा नदी

यहाँ देखने लायक कई नदियाँ हैं। नर्मदा नदी मध्य प्रदेश की सबसे लंबी नदी है। यह पश्चिम कि ओर से एक घाटी के दरार के मध्य से निकलती है। फिर यह ताप्ती नदी के समानान्तर बहती है। दोनों के कारण मध्य प्रदेश के एक चौथाई भूमि क्षेत्र को आसानी से जल आपूर्ति होती है।

खाना[सम्पादन]

  • नमकीन सेव - नमकीन सेव के लिए रतलाम काफी प्रसिद्ध स्थान है।
  • मटन और मछली - इसके लिए भोपाल सबसे अधिक जाना जाता है। यहाँ कोरमा, कीमा, बिरयानी, पिलफ, कबाब और कई प्रकार के भोजन मिलते हैं।
  • चाट - ग्वालियर में काफी प्रसिद्ध है। यह शरद ऋतु में काफी पसंद किया जाता है। इसे सेहत के लिए काफी अच्छा माना जाता है। इसमें सूजी, पूरी और आलू की टिक्की आदि रहता है।
  • दाल बाफला - यह इस क्षेत्र का आम भोजन है। मध्य प्रदेश के मध्य क्षेत्र में पोहा खाया जाता है।

पीना[सम्पादन]

सोना[सम्पादन]