ईरान

विकियात्रा से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
ईरान नक्शे में

ईरान (फारसी: ایران) एशिया के दक्षिण-पश्चिम खंड में स्थित देश है। बहुत ही लम्बा इतिहास संजोये हुए है ये देश। यह पहले परसिया के नाम से जाना जाता था। 20वीं सदी में इसका नाम बदल दिया गया। इसकी सीमा पश्चिम में इराक के साथ, उत्तर-पश्चिम में तुर्की, आर्मेनिया और अजरबैजान से जुड़ा हुआ है। इसके पूर्व में अफगानिस्तान और पाकिस्तान है।

अन्य जानकारी[सम्पादन]

ईरान की राजधानी, तेहरान
यजद

लोग[सम्पादन]

ईरान में फारसी बोलने वाले सबसे अधिक हैं। फारसी इकलौती अधिकारिक भाषा भी है। कुर्द और आज़रबाइजानी अन्य मुख्य समुदाय हैं। कुल मिलाकर फारसी 65% द्वारा मातृभाषा के रूप में बोली जाती हैं। चूँकि ये इकलौती सरकारी भाषा है, इसके बोलने वाले हर जगह मिलेंगे।

इतिहास[सम्पादन]

ईरान का इतिहास बहुत प्राचीन है। सबसे पहली सभ्यता ईरान की ईलम थी जो 2700 ईसा पूर्व से 600 ईसा पूर्व तक सक्रिय रही। सबसे पहला साम्राज्य मीदि लोगों द्वारा 625 ई.पू. में स्थापित किया गया। 550 ई.पू में हख़ामनी साम्राज्य स्थापित हुआ जिसे कई इतिहासकार विश्व का सबसे पहला "असल" साम्राज्य मानते हैं। यह फारसी लोगों द्वारा स्थापित पहला साम्राज्य भी था। इसका अंत सिकंदर ने किया। 651 ईसवी में अरब लोगों ने पूरा ईरान और उसकी संस्कृति से प्रभावित इलाकों पर विजय प्राप्त कर ली। 900 ईसवी तक लगभग सारे लोगों ने इस्लाम अपना लिया था। 1221 में मंगोलों ने कब्जा कर लिया। 1501 सफाविद राजवंश ने अपना शासन स्थापित किया और शिया इस्लाम का प्रचार प्रसार किया। 18वीं सदी के अंत तक शिया इस्लाम मुख्य पंथ बन गया।

मौसम[सम्पादन]

ईरान एक विविध जलवायु वाला देश है। उत्तर-पश्चिम में शीत ऋतु में मौसम काफी ठंडा हो जाता है और भारी बर्फबारी होती है। दिसम्बर और जनवरी के आसपास तापमान शून्य के आसपास रहता है। ग्रीष्म ऋतु में मौसम काफी सूखा और गर्म रहता है। वहीं दक्षिण में शीत ऋतु में हल्की ठंड होती है और ग्रीष्म ऋतु में बहुत अधिक गर्मी पड़ती है। जुलाई में औसत तापमान 38° C (100° F) से ऊपर हो जाता है और रेगिस्तानी स्थानों में 50° C तक भी पहुँच जाता है। खुज़ेस्तान में गर्मी के समय उच्च आर्द्रता होती है।

सामान्य तौर पर ईरान में एक शुष्क जलवायु होती है, जिसमें अक्टूबर से अप्रैल के मध्य काफी कम वर्षा होती है। देश के अधिकांश हिस्सों में वार्षिक औसतन 25सेमी वर्षा या उससे कम होती है। जाग्रोस और कुछ तटीय मैदान इसके अपवाद स्वरूप हैं। यहाँ बड़े बड़े पर्वतों के कारण वर्ष में 50मिमी से अधिक वर्षा दर्ज की जाती है। कैस्पियन के पश्चिमी भाग में तो साल में 100सेमी से भी अधिक वर्षा गिरती है। यहाँ साल भर थोड़ी थोड़ी वर्षा होती रहती है।


यात्रा[सम्पादन]

वीजा[सम्पादन]

यात्रा चेतावनी वीजा प्रतिबंध: इजराइल से आने वाले नागरिकों को या विदेशी पर्यटकों को भी आने की अनुमति नहीं दी जाती है। यदि उन्हें केवल कोई सबूत भी मिला कि आप इजराइल में गए थे, तो आपको अनुमति नहीं मिलेगी। केवल इजराइल ही नहीं, मिस्र / जार्डन या इजराइल के सीमा से सटे किसी भी देश से आने पर भी ऐसा किया जाता है। यदि इजराइल का वीजा एक वर्ष पहले समाप्त हो गया हो तो आपको अनुमति मिल सकती है।

मुख्य प्रक्रिया[सम्पादन]

पर्यटन वीजा आपको अधिकतम 30 दिन के लिए मिल सकता है। उसके बाद इसे आगे भी बढ़ाया जा सकता है। आपको ईरान आने से पहले ही वीजा लेना होगा। यह बनने के 90 दिनों तक ही काम आ सकता है। ईरान के स्वीकृत यात्रा संचालक किसी भी देश के लोगों (केवल इजरायल को छोड़ कर) सभी के लिए वीजा प्रदान कर सकते हैं। डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा ईरानी नागरिकों को अमेरिका में प्रवेश पर प्रतिबंध के कारण ईरानी सरकार ने सभी अमेरिकी नागरिकों का प्रवेश वर्जित कर दिया है।

यदि आप वीजा लेना चाहते हैं तो आपको पहले स्वीकृत यात्रा संचालक से बात करनी होगी। आपकी सभी जानकारी उनके पास पहुँचने के बाद वे विदेश मंत्रालय में आपके वीजा हेतु आवेदन करेंगे।

विमान द्वारा[सम्पादन]

तेहरान में उतरने वाली हर अंतर्राष्ट्रीय उड़ाने केवल नए बने इमाम खोमैनी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे में ही उतरती है। यह हवाई अड्डा तेहरान के दक्षिण-पश्चिम में 37 किलोमीटर दूरी पर स्थित है। हज हेतु सऊदी अरब जाने वाली सभी उड़ाने केवल मेहराबाद हवाई अड्डे से जाती हैं। यहाँ इसके अलावा 70 छोटे क्षेत्रीय हवाई अड्डे मौजूद हैं। इनमें शिराज, मशाद और इसफ़हान शामिल है, जहाँ से विमान हर दिन कई अंतर्राष्ट्रीय जगहों में उड़ान भरती हैं।

रेल द्वारा[सम्पादन]

टैक्सी द्वारा[सम्पादन]

कार द्वारा[सम्पादन]

बहुत ही चौड़े सड़क और ईंधन के ऐतिहासिक रूप से कम दाम ने इस देश को अपने कार द्वारा घूमने के लिए बहुत आकर्षक बना दिया है। लेकिन हाल ही में सरकार ने पर्यटकों के लिए ईंधन पर कर थोड़ा बढ़ा दिया है। लेकिन यह कर केवल निजी कारों के लिए लागू है और उतना अधिक भी नहीं है कि आपको परेशान होना पड़े।

विदेशों से आए लोगों को ईरान में अपने कार के साथ आने के लिए कारनेट दे पस्सेज और वाहन चलाने के अंतरराष्ट्रीय लाइसेन्स की आवश्यकता होती है। पेट्रोल आपको हर शहर में मिल जाएगा और कार की मरम्मत हेतु भी आपको कोई चिंता करने की आवश्यकता नहीं है। कारों से भरे ईरान में आपको कहीं भी मिस्त्री मिल सकते हैं।

देखें[सम्पादन]

प्राचीन शहर[सम्पादन]

स्थान[सम्पादन]