सूडान

विकियात्रा से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

सूडान अफ्रीका का तीसरा और दुनिया का सोलहवाँ सबसे बड़ा देश है। यहाँ की राजधानी खारतूम है। यह मिस्र, एरिट्रेया, मध्य अफ्रीकी गणतन्त्र, चाड, लीबिया और दक्षिण सुडान से जुड़ा हुआ है। सुडान का वीजा लेना अधिक कठिन काम है, परन्तु यदि आपने अपने प्रयासों से वीजा ले लिया तो आपको एक बहुत ही सुरक्षित स्थान मिलेगा, जो आपके लिए हमेंशा स्मरणीय रहेगा। सूडान के लोग काफी मददगार होते हैं और की एक खास बात ये है कि पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र जब आप देखने जाएँगे तो हो सकता है कि आपको कोई और पर्यटक भी न दिखे।

क्षेत्र[सम्पादन]

सूडान के क्षेत्र
केंद्रीय सूडान
केंद्रीय सुडान को राजनीति, संस्कृति, आर्थिक विकास का केंद्र माना जाता है। यह सूडान के राजधानी, खारतौम के केंद्र में स्थित है।
दार फूर
दार फूर एक अरबी शब्द है, जिसका अर्थ "फूर लोगों का जगह" होता है। इसे सामान्यतः दरफुर भी लिखते हैं। यह क्षेत्र 4,93,180 वर्ग किलोमीटर तक फैला हुआ है, जो स्पेन के आकार के आसपास ही है। इसका पूरा पूर्वी दार फूर का इलाका समतल भूमि और छोटे छोटे पत्तर और रेत से घिरा हुआ है, जिसे गोज और रेतीले पत्तर का पहाड़ कहते हैं। इसके बहुत सारे हिस्से बिना पानी के हैं और जिस स्थान पर पानी है, वह काफी गहरा है।
पूर्वी सूडान
इसके नाम से ही पता लग रहा है कि यह सूडान के पूर्व दिशा में स्थित है। पूर्वी सूडान का यह क्षेत्र खारतौम के पूर्व में स्थित है। इसी के साथ नीली नील नदी भी है।
कुर्दुफन
यह क्षेत्र मध्य सूडान का पूर्व प्रांत था। बाद में इसे तीन राज्यों में विभाजित किया गया। इस क्षेत्र को परंपरागत रूप से चिपचिपे परार्थ के निर्माण के लिए जाना जाता है। इसके अलावा यहाँ की फसलों में मूंगफली, कपास और बाजरा भी शामिल है।
उत्तरी सूडान
यह क्षेत्र नुबा और मेरोए सभ्यता के कई महत्वपूर्ण ऐतिहासिक जगहों का घर है। इसमें हर समय नई नई खोजें होती रहती हैं। मेरोए, मुसावरत-एस-सोफ्रा और वाद बेन नाका बहुत सारे मंदिर, पिरामिड और महलों का केंद्र है। इसके तटीय भाग में लाल सागर है, जिसमें दो राष्ट्रीय पार्क मौजूद हैं, यह दोनों साथ में विश्व के राष्ट्रीय धरोवर घोषित किए गए हैं।

परिचय[सम्पादन]

इतिहास[सम्पादन]

दलदली मिट्टी से बना एक बड़ा मंदिर, जिसे पश्चिमी देफ्फूफा कहा जाता है।

सूडान 40 वर्षों से अधिक समय तक गृह युद्ध झेल रहा था, जब तक कि दक्षिण सूडान को जुलाई 2011 में आजादी नहीं मिल गई। कॉलोनी शक्ति ने मुस्लिम और ईसाई को एक ही देश में सम्मिलित कर लिया था। इस कारण आजादी से लेकर 2011 तक गृह युद्ध चलता रहा। अभी भी छिटपुट हिंसा होती रहती है।

देश के आजाद होने के बाद पहली बार चुनाव प्रक्रिया शुरू हुई, जिसमें इस्माइल अल-अजहरी को पहला प्रधानमंत्री चुना गया और उनके नेतृत्व में सूडान की नई सरकार का निर्माण हुआ। 1 जनवरी 1956 में एक विशेष कार्यक्रम हुआ और उसी दौरान मिस्र और ब्रिटिश झंडे को नीचे कर नया सूडानी झंडा फहराया गया। इसे सूडान के तत्कालीन प्रधानमंत्री इस्माइल अल-अजहरी ने फहराया था।

मौसम[सम्पादन]

पूर्वी सूडान का रेगिस्तानी क्षेत्र

सूडान भौगोलिक दृष्टि से विविधता वाला जगह है, जो इसके सांस्कृतिक रूप में भी है। उत्तर में नील नदी सहारा के पूर्वी किनारे से जुड़ी हुई है। जहाँ नूबी रेगिस्तान है, जिसमें कश और मेरो नामक प्राचीन साम्राज्य और सेटी भूमि है। यहाँ कई किसान खेती करते हैं और फसल पैदा करते हैं। पूर्वी और पश्चिमी पहाड़ी क्षेत्रों और देश के बाकी हिस्सों में ज्यादातर सवाना का प्रभाव पड़ता है।

दक्षिण की ओर वर्षा की मात्रा बढ़ती जाती है। मध्य और उत्तरी भाग में बहुत अधिक सूखा ही रहता है और रेगिस्तानी इलाका है। जैसे उत्तरपूर्व में नूबी रेगिस्तान और पूर्व में बयुदा रेगिस्तान है। इसके दक्षिण में दलदली क्षेत्र है और वर्षावन भी मौजूद है। इसमें उत्तरी क्षेत्र में जुलाई से सितंबर तक मात्र तीन महीने ही वर्षा का मौसम रहता है, जबकि दक्षिण क्षेत्र में जून से नवम्बर तक कुल छह महीने तक वर्षा वाला मौसम रहता है।

यहाँ के शुष्क क्षेत्र एक प्रकार के रेतीली तूफान से प्रभावित हैं, जिसे हबूब कहते हैं। इस तूफान के दौरान पूरा सूरज तक ढक जाता है। उत्तरी और पश्चिमी इलाकों के अर्ध-रेगिस्तानी इलाकों में लोग अपना जीवन कुछ हल्की बारिश के भरोसे बिताते हैं। इसी के द्वारा वे अपना कृषि कार्य करते हैं और अपने भेड़ों और ऊंटों के झुंड के साथ यात्रा करते हैं। लोग नील नदी के पास काफी सारे अच्छे फसल पैदा करते हैं। पूरे देश में सूरज की रोशनी बहुत समय तक रहती है। खास तौर पर रेगिस्तानी इलाकों में यह पूरे साल में चार हजार घंटों तक रहती है।

यात्रा[सम्पादन]

वीजा[सम्पादन]

यात्रा चेतावनी वीजा प्रतिबंध:
इस्राइल के नागरिकों को आने की अनुमति नहीं है और जो भी इस्राइल में लगे मोहर दिखाता है या वीजा दिखाता है, तो उसे भी आने की अनुमति नहीं मिलती है। ठीक ऐसा ही मिस्र और जॉर्डन से आते समय मुहर के निशान से भी हो सकता है, यदि उसमें इस्राइल आने जाने के कोई सबूत मिले तो आपको आने की अनुमति नहीं मिलेगी।

सुडान में यात्रा हेतु वीजा मिलना कुछ देशों के लोगों के लिए या आपके इस्राइल जाने का कोई प्रमाण मिलने पर काफी महंगा और कठिन है। यदि हो सके तो अपने ही देश में वीजा प्राप्त करें।

मिस्र से - वीजा लेने के लिए काहिरा सबसे आसान जगहों में से एक है। जिसमें आवेदन करने पर कुछ ही घंटों का समय लगता है। कई सारे देशों के नागरिकों को $100 अमेरिकी डॉलर देना होता है और यह सुविधा अब मिस्र पाउंड में भी उपलब्ध है। लेकिन आपको अपने दूतावास से कोई आमंत्रण पत्र या परिचय पत्र देना आवश्यक है। इसके बिना आपको वीजा नहीं मिल सकेगा। इसे प्राप्त करने में अलग अलग दूतावास में अलग अलग समय लगता है। ब्रिटिश दूतावास में आपको 450 मिस्र पाउंड अर्थात 45 ब्रिटिश यूरो का खर्चा लगेगा, तभी वे लोग आपको पत्र देंगे। यहाँ से मात्र 200 मीटर की दूरी पर सूडानी दूतावास उपस्थित है। कनाडाई दूतावास आपको कभी कोई लिखा हुआ पत्र नहीं देगी, लेकिन काहिरा में स्थित सूडानी दूतावास किसी भी कनाडाई नागरिक को बिना किसी पत्र के भी वीजा दे देती है। लेकिन कनाडाई दूतावास द्वारा पत्र जारी न करना एक तरह से नई परेशानी को भी जन्म देता है। यदि किसी को कोई अनुमति चाहिए या वीजा की समाप्ति तिथि को बढ़ाना है तो उसके लिए दूतावास से पत्र लेना अनिवार्य हो जाता है, लेकिन कनाडाई दूतावास इस तरह का कोई पत्र कभी नहीं देता है।

इथियोपिया से - अदीस अबाबा में सूडानी दूतावास से वीजा मिलना बहुत अप्रत्याशित है, लेकिन यह काफी सस्ता है। आपको वीजा के लिए मात्र $60 अमेरिकी डॉलर खर्च करने होंगे। आपके नाम को खारटूम में वीजा के स्वीकृति हेतु भेजा जाएगा और आधिकारिक रूप से कहा जाएगा कि इसके लिए कम से कम दो सप्ताह लगेंगे या कम से कम दो माह लगेंगे। एक बार आपके नाम की स्वीकृति मिल गई तो आपको कुछ ही दिनों के भीतर वीजा मिल जाएगा। ब्रिटेन और अमेरिका के लोग वीजा जल्दी प्राप्त करने के लिए काफी दौड़ भाग करते रहते हैं, लेकिन किसी भी देश के नागरिक को जल्दी वीजा नहीं मिलता है। इसके लिए आपको कम से कम दो सप्ताह रुकना ही पड़ेगा। यदि आप लगातार सूडान से मिस्र में यात्रा कर रहे हैं और आपके पास मिस्र का वीजा है तो आपको एक ही दिन में एक सप्ताह के लिए यात्रा वीजा मिल सकता है, जिसे आप खारटूम में कुछ और पैसे देकर और आगे बढ़ा सकते हो। अदीस अबाबा में स्थित ब्रिटिश दूतावास केवल एक पत्र के लिए आपसे 740 बीर अर्थात 40 ब्रिटिश पाउंड लेती है।

केन्या से - आप वीजा हेतु आवेदन सुबह 10 बजे से दोपहर 12 बजे तक दे सकते हैं। अगले सुबह आपको तीन से तीन बजकर पचास मिनट के मध्य वीजा मिल जाएगा। इसके लिए आपको पाँच हजार केनियाई शिलिंग देने होंगे, अर्थात $50 अमेरिकी डॉलर देने होंगे। आपको अपने आवेदन हेतु अपने दूतावास से समर्थन पत्र भी लाना होगा। सूडानी दूतावास आपको कबरनेट सड़क पर, गोंग सड़क से 10 मिनट की दूरी पर मिलेगा। यहाँ का दूतावास मिस्र के दूतावास से कम भ्रमित करता है। लेकिन जनवरी 2010 से यहाँ के कर्मचारियों द्वारा अव्यवसायिक ढंग से कार्य किया जा रहा है, जिसमें कई बार गलत जानकारी का सुझाव भी दे दिया जाता है।

विमान द्वारा[सम्पादन]

खारतूम हवाई अड्डा यहाँ का मुख्य हवाई अड्डा है। इसमें कई अंतराष्ट्रीय उड़ाने इससे हो कर पूरी होती है। जिसमें यह सूडान हवाई अड्डे का उपयोग करता है। खारतूम हवाई अड्डा कई यूरोपीय, अफ्रीकी आदि उड़ानों के लिए खुला रहता है। यह कई शहरों से सीधे तौर पर जुड़ा भी है। यह अबु धबी, अदिस अबाबा, अम्मान, एम्स्टर्डैम, काहिरा, दमिश्क, दोहा, दुबई, लंदन, नैरोबी आदि से भी जुड़ा हुआ है।

नाव द्वारा[सम्पादन]

मिस्र से सूडान आने का यह सबसे भरोसेमंद मार्ग है। यह हर सप्ताह मिस्र के आसवन से निकलती है और वादी हल्फा में रुकती है। यह सूडान के लिए सोमवार को निकलती है और बुधवार को वापस हो जाती है। इसके लिए हर व्यक्ति को $33 अमेरिकी डॉलर देना होता है। नाव काफी पुरानी और भीड़ वाली होती है। जिसमें सामान भी बहुत भरा होता है। यहाँ भोजन और पीने की व्यवस्था होती है।

अन्य के द्वारा[सम्पादन]

आप दक्षिण सूडान में वौ शहर से रेल मार्ग द्वारा सूडान के बबनुसा शहर में आ सकते हैं। इसके अलावा आप चाहें तो सड़क मार्ग से सूडान में आ सकते हैं। एथियोपिया के सीमा से लगे गाँव गल्लाबत से आप सड़क पार करते हुए आ सकते हैं। मिस्र से आने का मार्ग कई बार बंद रहता है, यह दोनों देशों के मध्य आपसी लेनदेन के ऊपर निर्भर करता है। इस कारण आपको यदि इस मार्ग से आना जाना करना है तो इस मार्ग के बारे में पहले से जानकारी ले लें।

यदि मिस्र से सड़क का मार्ग खुला भी हो तो वहाँ से आने जाने के लिए कोई भी सार्वजनिक यातायात सुविधा जैसे बस आदि उपलब्ध नहीं है। इसके अलावा सूडान और नए बने दक्षिणी सूडान के मध्य किसी सार्वजनिक यातायात की सुविधा उपलब्ध है या नहीं, इस बारे में कोई नई जानकारी उपलब्ध नहीं है।

घूमना[सम्पादन]

अनुमति[सम्पादन]

यदि आप एक आत्मनिर्भर यात्री की तरह सूडान में घूमना चाहते हो तो आपके पास अपना गाड़ी होना ही चाहिए या किसी सार्वजनिक यातायात सुविधा का उपयोग करना पड़ेगा और उसी के साथ ही आपको यात्रा करने के लिए अनुमति भी लेना होगा। यह अनुमति आपको तभी लेने की जरूरत है, यदि आप खारटुम शहर के सीमा से दूर जा रहे हो। इस तरह की अनुमति झट से मिल जाती है और कोई परेशानी भी नहीं होती है। आपको पूरे दिन भर की अनुमति के लिए $15 अमेरिकी डॉलर देने होंगे।

यदि आप कहीं किसी दूसरे शहर जाते हैं तो जाते साथ आपको अपने बारे में पुलिस को जानकारी देनी होगी और अपना पंजीकरण करा सकते हैं। यह बहुत तेजी से हो जाता है और जिस तरह से अनुमति लेने में कोई कठिनाई नहीं होती, उसी प्रकार पंजीकरण में भी कोई कठिनाई नहीं होती है। एक बार पुलिस ने आपको किसी नाके में देखा हुआ पा लिया है तो आगे अक्सर ही आपके द्वारा किसी पुलिस थाने को देखने से पूर्व ही वे लोग आप तक पहुँच जाएँगे। कुछ शहरों में फिर से पंजीकरण करने की कोई आवश्यकता नहीं होती है।

विमान द्वारा[सम्पादन]

विमान द्वारा सफर काफी तेजी से पूरा हो जाता है और आप भी विमान द्वारा ही यहाँ सफर करना चाह सकते हैं। पर किसी विमान द्वारा घूमने से पूर्व यह जान लेना अच्छा होगा कि सूडान एयरवेज का पूरे अफ्रीका में सबसे खराब सुरक्षा इंतजाम रहता है। इसके कारण पिछले दस सालों में चौबीस से अधिक भयानक हादसे हो चुके हैं।

खारतौम के बाहर कुछ छोटे हवाई अड्डे हैं, जिसमें वादी हलफ़ा, अल डब्बा, डोंगोला, सुडान बन्दरगाह, अल फशर, वाद मदनी, अल ओबेद हैं, यहाँ सभी में सूडान एयरवेज आपकी यात्रा के लिए अपनी सेवा प्रदान करता है। इसमें से कई सारे विमान, खारटूम द्वारा संचालित होते हैं। यदि आप विमान से यात्रा करने निकलें हैं तो उसके समय सारणी में बदलाव और उड़ान के रद्द होने आदि की घटना के लिए भी तैयार रहें।

देखें[सम्पादन]

खारटौम / ओमडुरमैन में आपको सूर्यास्त और शुक्रवार की प्रार्थना से लगभग एक घंटे पहले आपको सूफी रस्मों को देखना चाहिए। ये अनुष्ठान ओमडुरमैन में नाइल नदी के उत्तर-पश्चिम में होता है। इस दौरान बहुत स्वागत वाला और उत्सवपूर्ण माहौल हो जाता है।

खरीदें[सम्पादन]

मुद्रा[सम्पादन]

सूडानी पाउंड हेतु मुद्रा परिवर्तन दर

  • अमेरिकी $1 ≈ SDG6.4
  • €1 ≈ SDG6.8
  • ब्रिटिश £1 ≈ SDG7.8

मुद्रा परिवर्तन की दर जनवरी 2017 के अनुसार है।

सूडानी पाउंड (अरबी: جنية जेने) इस देश की मुद्रा है, जिसे 100 पियास्ट्रेस (सिक्कों) में विभाजित किया जा सकता है। इस मुद्रा को "G" गुइना चिह्न द्वारा दिखाया जाता है। पाउंड को जनवरी 2007 में लाया गया था, जिसने सूडानी दीनार (अरबी: دينار दीनार) की जगह ली। एक पाउंड की कीमत 100 पुरानी दीनार है।

लेकिन ये सब इतना आसान नहीं है, खास कर तब, जब कोई नए पाउंड या दीनार के स्थान पर पैसा मांग रहा हो। कई लोग आज भी पुराने पाउंड के रूप में पैसा मांगते हैं, जबकि पुराने पाउंड के नोट अब वहाँ प्रचलन में नहीं हैं। एक दीनार की कीमत 10 पुराना पाउंड होता है, अर्थात जब कोई व्यक्ति आपसे 10,000 पाउंड मांगता है तो वो आपसे 1,000 दीनार मांगते रहता है। सामान्यतः लोग उतने पैसे लेकर चले भी जाते हैं, जिसके कारण और भ्रम पैदा हो जाता है। तो हो सकता है कि आपका टैक्सी चलाने वाला आपसे 10 पाउंड मांगे, जिसका अर्थ 10,000 पुराना पाउंड हो, जो 1,000 दीनार के बराबर है। इसे भी 10 पाउंड माना जाता है। इस भ्रम से दूर रहने का एक तरीका भी है। जब भी कोई इस तरह से पैसे मांगे तो आप उससे पूछ सकते हैं कि नया पाउंड या جنية الجديد जेने अल-जेदिद चाहिए।

इसे आप इस तरह से समझ सकते हैं: : 1 नया पाउंड = 100 दीनार = 1000 पुराना पाउंड

आप सूडान में केवल विदेशी नकद ही ला सकते हैं। कई सारे होटल में अमेरिकी डॉलर को स्वीकार कर लिया जाता है। कुछ होटल इंग्लैंड का पाउंड भी स्वीकार कर लेते हैं। कुछ बड़े शहरों के बैंकों में आप यूरो का विनियम आराम से कर सकते हैं। आंशिक रूप से अमेरिका के प्रतिबंध के कारण यात्रा चेक, क्रेडिट कार्ड और विदेशी बैंक के एटीएम कार्ड को सूडान में स्वीकार नहीं किया जाता है।

खाना[सम्पादन]

सूडानी व्यंजनों में आप कई तरह के प्रभाव देख सकते हैं, लेकिन इनमें से कोई भी प्रभाव क्षेत्रीय व्यंजनों पर नहीं पड़ा है। इनमें मिस्र, इथियोपिया, यमनी, तुर्की व्यंजनों का प्रभाव पड़ा है, लेकिन यह सभी व्यंजन अरब देशों में समान्य हैं।

पीना[सम्पादन]

परंपरागत सूडानी कॉफी सुराही

इस्लाम इस देश का आधिकारिक धर्म है, इस कारण यहाँ शराब या किसी भी प्रकार का एल्कोहॉल पूरी तरह से प्रतिबंधित है। यहाँ के लोग मुख्य रूप से चाय पीते हैं। जो मुख्यतः मीठा और काला होता है। यहाँ पर ताजगी के लिए कुछ और पेय भी होते हैं। यहाँ स्थानीय रूप से ऊर्जा के लिए पेय मदीदा के नाम से जाना जाता है। यह कई सामग्री को पीस कर बनाया जाता है। जिसमें ताजा दूध, भारी मात्रा में चीनी डाला जाता है।

सोना[सम्पादन]

सभी बड़े शहरों में आपको अच्छे होटल मिल जाएँगे। लेकिन यह आपके सोचने के जितना ही सस्ता नहीं रहता है। यह सामान्यतः गुणवत्ता के अनुसार ही बढ़ता रहता है। सामान्य होटल आपको बिस्तर और पंखा देते हैं। कुछ कमरों में एक से अधिक बिस्तर होते हैं, लेकिन उसके लिए आपको अधिक पैसे देने होते हैं। कुछ छोटे शहरों में काफी सस्ते होटल होते हैं, लेकिन वहाँ सफाई अधिक नहीं रहती है और कुछ समय के लिए ठहरने के लिए यह काफी अच्छा होता है। यहाँ मध्यम श्रेणी के भी होटल होते हैं, जो थोड़े अच्छे तो होते हैं, लेकिन पैसे भी अधिक लेते हैं। इसके अलावा यहाँ बहुत उच्च गुणवत्ता के भी होटल होते हैं, लेकिन यह मध्यम श्रेणी के होटल से अधिक पैसे लेते हैं, साथ ही आपको पूरी सुविधा भी देते हैं। यह पाँच सितारे होटल में आने जैसा है।

सुरक्षित रहें[सम्पादन]

सूडान में आपको सुरक्षा के कई आयाम देखने को मिलेंगे, इस कारण यहाँ चोरी की घटना तो शायद आप कभी सुने भी न, और सड़क पर भी आपको कोई नहीं लूटेगा और यहाँ के लोग भी आपको और आपके कमाई को बचाने के लिए काफी दूर तक जा सकते हैं। वहीं दूसरी ओर सूडान का इतिहास संघर्षों से भरा पड़ा है। सूडानी सरकार भी इसके और भ्रष्टाचार के बारे में न तो खुली है और न ही जवाबदेह रहती है। इसके सतह के नीचे व्यापक रूप से भ्रष्टाचार होता रहता है। इस बारे में यात्रियों को जानना भी जरूरी है।

सशस्त्र लड़ाई[सम्पादन]

सूडान के खारतूम में स्थित केन्द्र सरकार और दक्षिण में स्थित गैर-मुस्लिम अलगाववादियों के मध्य 40 वर्षों का गृह युद्ध हो रहा था, जबकि उस समय दक्षिण सूडान भी सूडान का भाग था। दक्षिण सूडान के स्वतंत्र होने के बाद भी दोनों देशों के मध्य तनाव और मतभेद जारी है। दुरफुर में जो संघर्ष चल रहा है, उसका काफी प्रचार होता रहता है। यात्रियों को पश्चिमी हिस्से में जाने का कोई भी सुझाव नहीं देता है।

परिवहन[सम्पादन]

सूडान दुनिया के चार देशों में से एक है, जो उड़ान के अंतरराष्ट्रीय मानकों को नहीं मानता है। राज्य का आधिकारिक विमान, सूडान एयरवेज का निर्माण 1950 के दशक में हुआ था, जिसमें न तो आप कहाँ हो वो देख सकते हैं, न ही रात के लिए कोई रोशनी की सेवा है और नीचे आते समय के लिए उपयोग में लाने वाले गेयर का महत्वपूर्ण टुकड़ा भी कहीं गुम हो गया है। इस कारण पिछले साल केवल उत्तरी क्षेत्र में ही 27 घातक दुर्घटनाएँ हुई हैं। इसी ने सूडान को विमान द्वारा आंतरिक यात्रा हेतु एक सबसे खतरनाक देश बना दिया है।

आपको चुनौती पसंद है तो आप सूडान में अपने निजी कार से भी जा सकते हैं। सूडान के सीमा पर बहुत सारे सैन्य टुकड़ियाँ आपके स्वागत के लिए तैयार रहते हैं। खास तौर पर सूडान के पड़ोसी देश, मिस्र या पश्चिमी लोगों के आने पर यदि वे दूसरे ओर जाना चाहते हैं तो उन्हें सीमा पर काफी बड़ी समस्याओं का सामना करना पड़ता है।

आप बिना किसी तकलीफ के बस से भी यात्रा नहीं कर सकते हैं। कुछ बसें दूसरे से काफी अच्छी होती है और कुछ तो अपने ठंडे एसी के साथ सबसे अच्छी बसों में गिने जाते हैं। इन बसों में आपको पीने के लिए भी अच्छा पानी मिलेगा और कुछ अन्य सुविधायें भी मिलेंगी। किसी गर्म बस में बैठने से तो यह काफी अच्छा ही लगेगा। कुछ बसों में एसी नहीं होता है, जो मिस्र के पर्यटकों को एक जगह से दूसरे स्थान पर पूरा दिन लगा कर ले जाता है।

अपनी सुरक्षा[सम्पादन]

आपके संपत्ति के लिए कोई आपके ऊपर हमला करे, ऐसी कोई संभावना यहाँ नहीं है, लेकिन सार्वजनिक जगहों पर अपनी चीजों से कभी ध्यान न हटाएँ। सड़क पर या किसी खाने पीने वाले जगहों में चोर अपने दोस्तों या समूह के साथ मिल कर कार्य करते हैं और एक पल के लिए भी यदि आपका ध्यान कहीं ओर हुआ तो वे आपके सामान को धीरे से कहीं ओर जगह रख कर ले जा सकते हैं। इसके अलावा यहाँ जेबकतरों का मामला भी काफी है।

महिला यात्री[सम्पादन]

यहाँ किसी अकेली महिला के लिए भी यात्रा अपेक्षाकृत काफी सुरक्षित रहता है। खास तौर पर उन क्षेत्रों में जो गृह युद्ध के दौरान प्रभावित नहीं हुए हैं और यदि आप इस्लामी देश के अनुसार अच्छी तरह से कपड़े पहने हों, तो हो सकता है कि कई लोग आपको देखें, लेकिन वे आपका काफी अधिक सम्मान भी करेंगे। सामान्य तौर पर देखें तो किसी महिला को यहाँ समूह में यात्रा करना अच्छा होता है, और यदि कोई पुरुष साथ हो तो और भी अच्छा रहेगा।

स्वस्थ रहें[सम्पादन]

सूडान का क्षेत्र मलेरिया से ग्रस्त है। खास तौर पर वर्षा ऋतु में आपको अधिक संभल कर रहना होगा। इस दौरान विषैले सर्प, मकड़ी और बिच्छू आम तौर पर दक्षिणी क्षेत्रों में दिखाई देते हैं। इस दौरान उन क्षेत्रों में न जाना ही सही है। इसके अलावा आपको पीने के पानी पर भी ध्यान देना चाहिए और आपको केवल बोतल का पानी या किसी जल को स्वच्छ करने वाले किसी मशीन से ही पानी पीना चाहिए जो काम कर रहा हो और इसी के साथ आपको फलों के रस से भी दूरी बना कर रहें, क्योंकि उसमें भी स्थानीय जल का उपयोग किया जाता है, अर्थात मिलाया जाता है। सोडा या कुछ और भी पीते समय बर्फ के टुकड़ों का उपयोग भी न करें, क्योंकि वो भी केवल स्थानीय जल से बना बर्फ ही है।

खास तौर पर ग्रीष्म ऋतु के समय लंबे यात्रा पर किसी सार्वजनिक यातायात सुविधा का उपयोग करके जाना संभव नहीं है या बहुत कठिन है। इसके अलावा जगह दूर होने और गर्मी के कारण आपको पानी की अधिक आवश्यकता होगी, लेकिन उतने दूर बहुत सारे बोतल को ले जाना काफी कठिन रहेगा और पैसे भी अधिक लगेंगे। दूर जगह से साफ पीने का पानी बोतल में काफी अधिक दाम में मिलता है। आप जाते समय अपने हाथों को साथ में मिला कर रखें, इधर उधर छत या कहीं ओर न रखें, क्योंकि उन सभी में अधिक गंदगी होगी और उतनी गंदगी आपको बीमार करने के लिए काफी है। कुछ क्षेत्रों में आपको स्वच्छता भी नहीं मिलेगी, इस कारण आपको अपने हाथों को जब मौका मिले, तब धोना चाहिए, ताकि उसमें कोई भी विषाणु न रह जाये।

सड़क पर भोजन बनाने वालों से प्राय भोजन लेना ठीक होगा है, यदि वे अपना भोजन उसी समय आपके सामने ही बना रहे हों और लोग खा भी रहे हों। कुछ खाली भोजनालयों और जगहों पर खाना न खाएँ, क्योंकि खाली जगह यह दिखाता है कि वहाँ बहुत कम लोग जाते हैं और कई घंटों तक वहाँ खाना ऐसे ही पड़ा रहता है और हो सकता है कि वहाँ उसे कोई ढक कर भी न रखता हो और साफ सफाई भी नहीं होती हो। कई स्थानीय लोग भी केवल अच्छे भोजनालयों में ही जाना पसंद करते हैं, अर्थात यदि किसी भोजनालय में अधिक लोग हों, तो हो सकता है कि वहाँ की सेवा अच्छी हो और भोजन भी काफी अच्छा हो।

सूडानी मुद्रा मुख्यतः गंदगी से भरी होती है और उसे छूने से बीमारी का खतरा काफी बढ़ जाता है। कोशिश करें कि जितना कम हो सके उतना कम छोटे बिल को अपने पास रखें। इससे बचाने और बार बार हाथ धोने से यही अच्छा है कि आप कोई विषाणु मारने वाले दवा का छिड़काव अपने सामान में कर दें, जिससे आपको बार बार हाथ धोने से मुक्ति मिल सके और जब भी आप कोई नोट को पकड़ेंगे या किसी से हाथ मिलायेंगे, तो वापस अपने सामान को छूने से उनमें उपस्थित विषाणु मर जाएँगे।

2004 में बताया गया कि इबोला का कहर सूडान में शुरू हो गया है और यदि कोई आपातकाल न हो तो स्थानीय अस्पताल में जाना सही नहीं है, क्योंकि वहाँ सुविधाओं की और अच्छे इलाज की भी कमी रहती है। यदि आपको लगे कि आपको मलेरिया हो गया है तो उसका जल्द से जल्द इलाज करना जरूरी है। आपको चिकित्सा हेतु कई निजी अस्पताल मिल सकते हैं, जहाँ काफी अच्छी तरह से इलाज होता है और उसी के हिसाब से पैसे भी लगते हैं।

नहाने या किसी ताजा पानी के झरने या गिरते हुए पानी के नीचे से न चलें, क्योंकि उसमें कई जीवाणु हो सकते हैं। यदि आपने ऐसा किया और कोई खुजली हो रही हो या बुखार आया तो जल्द से जल्द चिकित्सकीय जाँच करा लें, लेकिन पश्चिमी चिकित्सक यही समझ कर आपका इलाज करेंगे कि आपको मलेरिया हुआ है।

सम्मान करें[सम्पादन]

धार्मिक संवेदनशीलता[सम्पादन]

सूडान एक इस्लामी देश है, इस कारण शराब या अन्य हानिकारक पदार्थों पर पूरी तरह रोक है। सूडानी स्त्रियों को अच्छी तरह ठक कर कपड़े पहनने पड़ते हैं। यदि कोई विदेशी महिला भी आए तो उसे भी अपनी बुद्धिमानी से वैसे ही कपड़े पहनने चाहिए, चाहे कोई अन्य पर्यटकों में उस तरह का सम्मान न दिखा रहा हो या नहीं। इसके अलावा पुरुषों को भी छोटे पतलून के स्थान पर लंबे पतलून ही पहनने चाहिए।

सूडानी लोग किसी भी विदेशी से रमजान के पवित्र महीने में उपवास करने की कोई उम्मीद नहीं करते अहीन, लेकिन इस दौरान सार्वजनिक रूप से कहीं खाना, पीना या धूम्रपान करना सही नहीं है। बहुत से लोग, जिसमें मधुमेह के रोगी और किसी निश्चित दूरी तय करने वाले यात्रियों को भी इससे छूट दी जाती है। इस कारण दिन में कुछ भोजनालयों का खुला मिलना संभव है, लेकिन इन भोजनालयों का अच्छी तरह से प्रचार नहीं होता है कि इस दिन कोई भोजनालय खुला है।

स्थानीय रिवाज[सम्पादन]

यहाँ किसी को भी अपने पैर के निचले हिस्से को दिखाना अपमानजनक समझा जाता है। हालांकि सूडान एक उदारवादी मुस्लिम संस्कृति वाला देश है, फिर भी विदेशियों को कोशिश करना चाहिए कि किसी भी महिला से सीधे बातचीत न करें और यदि जरूरत भी पड़े तो उसके लिए अनुमति लें फिर बात करें। इसके अलावा महिलाओं को शारीरिक स्पर्श करने से बचने की कोशिश करें या उसने जितनी दूर हो सके, उतनी ही दूरी बना कर चलें या रहें।

बातचीत[सम्पादन]

कृपया बातचीत के दौरान किसी भी व्यक्ति से सीधा कोई राजनीतिक प्रश्न कर उनसे इस बारे में उनके विचार न पूछें और पुछते भी हैं तो ऐसे व्यक्ति से पूछें, जिसे आप अच्छी तरह से जानते हों और उसके साथ आप आराम से बात कर सकते हो, नहीं तो इसके बहुत अधिक गंभीर परिणाम भी भुगतने पड़ सकते हैं। यह देश लगभग 40 वर्षों से गृह युद्ध झेल रहा है और उन्हें अब शांति की आवश्यकता है। इससे प्रभावित होने वाले शरणार्थियों ने देश के विभिन्न क्षेत्रों में शरण लिया है और इसमें खास तौर लोग खारटूम में शरण लिए हैं।

संचार[सम्पादन]

सूडान में सीधे कॉल करने के लिए आपको 249 भी सामने लिखना होगा। इसका अंतरराष्ट्रीय कॉल करने का अंक 00 है, लेकिन सूडान के मोबाइल उपयोग करने वाले अपने देश के कोड के आगे + लगा कर भी बात कर लेते हैं। यदि आप सूडान में गए हैं, तो आपको प्रीपैड मोबाइल फोन खरीदने में कोई दिक्कत नहीं होगा, यह सूडान में आपको आसानी से मिल जाएगा। यहाँ संचार के क्षेत्र में जैन और एमटीएन दो बड़ी कंपनियाँ हैं। जैन वाला प्रीपैड फोन आपको एमटीएन की तुलना में काफी सस्ता पड़ेगा। जैन प्रीपैड फोन खरीदने में आपको 10 सूडानी गुइना लगेगा, जबकि एमटीएन में आपको 20 सूडानी गुइना देने होंगे। एमटीएन के ग्राहक सेवा से आप किसी भी समस्या के हल हेतु बात कर सकते हैं, लेकिन उनसे काफी मुश्किल से ही बात हो पाती है।