मेरठ

विकियात्रा से
Jump to navigation Jump to search

मेरठ भारत के उत्तर प्रदेश में पश्चिम भाग में स्थित एक शहर है। यह एक प्राचीन शहर है, जिसके आसपास के क्षेत्रों में सिंधु घाटी सभ्यता के कई सारी बस्तियाँ पाई गई हैं। यह दिल्ली के 70 किलोमीटर उत्तरपूर्व और लखनऊ के 453 किलोमीटर उत्तरपश्चिम में स्थित है। यह शहर अपने बहुत सारे वाद्ययंत्र और खेल के सामान बनाने और बेचने के लिए जाना जाता है। इसके सामान विश्व भर में निर्यात किए जाते हैं। यहाँ से आप सस्ते दाम पर ये सामान ले सकते हैं। 1857 में अंग्रेजों के खिलाफ हुए विद्रोह के कारण भी इस शहर को जाना जाता है।

परिचय[सम्पादन]

इतिहास[सम्पादन]

1803 में दिल्ली सल्तनत के पतन के बाद दौलत राव सिंधिया ने इस क्षेत्र को अंग्रेजों को सौंप दिया। इस शहर को 1818 में उसके जिले का मुख्यालय बना दिया गया था।

1857 में अंग्रेजों के खिलाफ भारत के लोगों का विद्रोह, मेरठ से जुड़ा हुआ है और इस कारण यह जगह काफी प्रसिद्ध भी है। "दिल्ली चलो" जैसा प्रसिद्ध नारा भी यहीं पर पहली बार बोला गया था। यह विद्रोह मेरठ में तब शुरू हुआ, जब अंग्रेजों ने हिन्दू और मुस्लिम सिपाहियों को जानवर के चर्बी वाला राइफल का कारतूस दिया था।

मौसम[सम्पादन]

मेरठ में नमी वाला उप-उष्णकटिबंधीय जलवायु है, जो मानसून द्वारा प्रभावित हो कर, ग्रीष्म ऋतु को गर्म और शरद ऋतु को ठंडी बनाती है। अप्रैल से शुरुआत से लेकर जून के अंत तक ग्रीष्म ऋतु होता है, जिसमें तापमान काफी अधिक ऊपर चले जाता है। इस दौरान तापमान 49 °C (120 °F) तक भी चले जाता है। इसके बाद जून के अंत से मानसून आ जाता है और सितम्बर के मध्य तक लगातार रहता है। इस दौरान तापमान में थोड़ी गिरावट होती है और बादल छाए रहते हैं, लेकिन नमी अधिक हो जाती है। अक्टूबर में गर्मी फिर बढ़ जाती है और उसके बाद शहर में काफी हल्का सूखा शरद ऋतु शुरू हो जाता है। यह ऋतु अक्टूबर से लेकर मार्च के मध्य तक रहता है। अब तक का सबसे कम तापमान 6 जनवरी 2013 को दर्ज किया गया था, उस दिन यहाँ का तापमान मात्र -0.4 डिग्री सेल्सियस (31.3 डिग्री फ़ारेनहाइट) था। यहाँ वर्षा लगभग 845 मिलीमीटर (33 इंच) प्रति वर्ष होती है, जो फसलों के बढ़ने के लिए उपयुक्त है। यहाँ सबसे अधिक बारिश मानसून के समय होती है और नमी 30% से 100% के मध्य रहती है।

कैसे पहुँचें[सम्पादन]

बस से[सम्पादन]

दिल्ली से बस से पहुँचा जा सकता है।

रेल मार्ग[सम्पादन]

मेरठ में दो रेलवे स्टेशन हैंः- 1. मेरठ कैंट 2. मेरठ सिटी

देखें[सम्पादन]

मेरठ का नक्शा
नवाब कोठी (मुस्तफा महल)
  • अगढ़नाथ मंदिरवेस्टएण्ड रोड काली पालटन के रूप में भी जाना जाता है
  • हस्तिनापुरहस्तिनापुर मेरूर पांडव के शासन की राजधानी और केंद्र स्थान
  • मेरठ कैंट 1857 के भारतीय विद्रोह का स्मारक

खरीदें[सम्पादन]

  • गोल बाजार इसमें कई सारे खाने की चीजें मिलती हैं।
  • सूरजकुंड क्रिकेट के बहुत अच्छे सामान यहाँ बनते हैं। जिसे पूरी दुनिया में निर्यात किया जाता है।
  • जलीकोठी यहाँ कई सारे वाद्ययंत्र बनाए और बेचे जाते हैं। यहीं पर बनने के कारण आपको काफी अच्छे दाम में वाद्ययंत्र मिल सकता है।

सोना[सम्पादन]

  • 1 मुकुट महल होटलसूर्य पैलेस कॉलोनी में स्थित है। +91 121 240 1311 निःशुल्क भोजनालय और वाईफाई की सुविधा है।
  • 2 गॉडविन होटलराष्ट्रीय राजमार्ग 58 में, भारती विश्वविद्यालय के पास, ग्रीन वूड शहर में स्थित है। +91 90121 22222 वाईफाई, नाश्ता और गाड़ी पार्क करना निःशुल्क है। इसमें भोजनालय भी है और चौबीसों घंटे कैफे भी खुला रहता है। इसके अंदर पुल भी है और कमरों में एसी की सुविधा भी उपलब्ध है। इसमें स्पा, आरोग्य केन्द्र आदि भी मौजूद है।
  • नवीन डीलक्स होटल169 अबू लेन मेरठ +91-121-2660125 इसमें होटल के साथ साथ भोजनालय भी है।