खजुराहो

विकियात्रा से
Jump to navigation Jump to search

खजुराहो भारतीय राज्य मध्य प्रदेश में स्थित एक प्रमुख शहर है जो अपने प्राचीन एवं मध्यकालीन मंदिरों के लिये विश्वविख्यात है। यह मध्य प्रदेश के छतरपुर जिले में स्थित है। मंदिरों का शहर खजुराहो पूरे विश्व में मुड़े हुए पत्थरों से निर्मित मंदिरों के लिए प्रसिद्ध है। खजुराहो को इसके अलंकृत मंदिरों की वजह से जाना जाता है जो कि देश के सर्वोत्कृष्ठ मध्यकालीन स्मारक हैं। भारत के अलावा दुनिया भर के आगन्तुक और पर्यटक प्रेम के इस अप्रतिम सौंदर्य के प्रतीक को देखने के लिए निरंतर आते रहते है।

खजुराहो

परिचय[सम्पादन]

मौसम[सम्पादन]

भाषा[सम्पादन]

हिन्दी, अंग्रेजी, इसके अतिरिक्त कई देशी विदेशी भाषाओ को जानने वाले स्थानीय गाइड वहा होते है जो की सहजता से भाषांतर कर सकते है

कैसे पहुंचे[सम्पादन]

हवाई मार्ग[सम्पादन]

खजुराहो वायु मार्ग द्वारा दिल्ली, वाराणसी, आगरा और काठमाण्डु से जुड़ा हुआ हैं। खजुराहो एयरपोर्ट सिटी सेन्टर से तीन किलोमीटर दूर है।

रेल मार्ग[सम्पादन]

खजुराहो रेलवे स्टेशन से दिल्ली और वाराणसी के लिए रेल सेवा है। दिल्ली और मुम्बई से आने वाले पर्यटकों के लिए झांसी भी सुविधाजनक रेलवे स्टेशन है। जबकि चेन्नई और वाराणसी से आने वालों के लिए सतना अधिक सुविधाजनक होगा। नजदीकी और सुविधाजनक रेलवे स्टेशन से टैक्सी या बस के माध्यम से खजुराहो पहुंचा जा सकता है।

सड़क मार्ग[सम्पादन]

खजुराहो- महोबा, हरपालपुर, छतरपुर, सतना, पन्ना, झाँसी, आगरा, ग्वालियर, सागर, जबलपुर, इन्दौर, भोपाल, वाराणसी और इलाहाबाद से नियमित और सीधा जुड़ा हुआ है। दिल्ली के राष्ट्रीय राजमार्ग 2 से पलवल, कौसी कला और मथुरा होते हुए आगरा पहुंचा जा सकता है। राष्ट्रीय राजमार्ग 3 से धौलपुर और मुरैना के रास्ते ग्वालियर जाया जा सकता है। उसके बाद राष्ट्रीय राजमार्ग 75 से झांसी, मउरानीपुर और छतरपुर से होते हुए बमीठा और वहां से राज्य राजमार्ग की सड़क से खजुराहो पहुंचा जा सकता है।

कहां घूमें[सम्पादन]

क्या देखें[सम्पादन]

क्या करें[सम्पादन]

खरीदारी[सम्पादन]

मेल मिलाप[सम्पादन]

क्या खाएं[सम्पादन]

क्या पिए[सम्पादन]

कहां ठहरे[सम्पादन]

सतर्कता/सावधानियाँ[सम्पादन]

आगे कहाँ जाएं[सम्पादन]